म्यूकोरमाइकोसिस के मरीजों का इलाज अब मुफ्त में होगा : स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे

राज्य सरकार ने म्यूकोरमाइकोसिस बीमारी को महात्मा फुले जन-आरोग्य योजना में शामिल कर लिया है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इसकी जानकारी दी.

कोरोना के नए-नए प्रकार और उसके इलाज के बाद भी एक नई बीमारी अब सामने आई है. इस बीमारी का नाम म्यूकोरमाइकोसिस है. सूरत में दो दिनों पहले म्यूकोरमाइकोसिस के 40 मरीज एकाएक सामने आए थे और उनमें से 8 मरीजों की जान बचाने के लिए आंखें निकालनी पड़ी थीं. इसके शिकार कुछ मरीज उत्तर महाराष्ट्र और विदर्भ क्षेत्र में भी सामने आए. सोमवार ही चंद्रपुर से म्यूकोरमाइकोसिस के शिकार हुए 10 मरीजों की खबर आई, जिनका फिलहाल इलाज चल रहा है. करीब 30 से ज्यादा म्यूकोरमाइकोसिस से पीड़ित मरीजों का इलाज मुंबई के केईएम और ग्लोबल अस्पताल में चल रहा है.

म्यूकोरमाइकोसिस का इलाज अब मुफ्त में होगा

ऐसे में इस बीमारी की गंभीरता को समझते हुए राज्य सरकार ने म्यूकोरमाइकोसिस को महात्मा फुले जन-आरोग्य योजना में शामिल कर लिया है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने सोमवार को इसकी जानकारी दी. राज्य सरकार के इस फैसले से कोरोना मरीजों और कोरोना से ठीक होने के बाद म्यूकोरमाइकोसिस के शिकार होने वाले मरीजों को बहुत बड़ी राहत मिली है.