रमजान 2021: इस बार कि नमाज़ घर पर, स्टॉल लगाने की भी मनाही- उद्धव सरकार की गाइडलाइंस जारी

मुंबई : फ़िलहाल कोरोना की दूसरी लहरा का कहर जारी है. ऐसे में महाराष्ट्र फिलहाल कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है. अब तेजी से फैले कोरोना संकट के बीच नवरात्र और रमजान मनाया जाएगा जिसको लेकर जनमानस भी उत्साहित दिख रहा है. हालांकि, अबकी बार विभिन्न राज्य सरकारें त्योहारों और रमजान पर ज्यादा ढील देने के पक्ष में नहीं दिख रही हैं. इसके चलते अब उत्तर प्रदेश से लेकर महाराष्ट्र तक कई राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर सख्त नियम बनाए गए हैं.

फिलहाल देश भर में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में आगामी कल यानी बुधवार से भारत में रमजान का महीना भी शुरू हो जाएगा. इसको लेकर तमाम इमाम अपनी बैठकें भी कर रहे हैं. और इस बात की लोगों से अपील कर रहे हैं कि भारत और राज्य सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस को ही फॉलो किया जाए. वहीं, दूसरी तरफ नवरात्र भी आगामी 14 अप्रैल से शुरू हो रहा है. ऐसे में विभिन्न राज्य सरकारों के सामने कोरोना नियमों का पालन कराना अब एक चुनौती बना हुआ है.

जानें रमजान को लेकर सरकार की ये गाइडलाइंस

> आप घर पर ही नमाज़ अदा करें. मस्जिदों में भीड़ ना बढ़ाएं.
> अब जल्द ही धार्मिक स्थल जल्द ही बंद हो जाएंगे, इसलिए वाज़ यानी सामूहिक नमाज़ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आयोजित करें.
> अब लोग खरीदारी के लिए बाजार में भीड़ न करें और न ऐसा करने दें.
> इसके साथ ही अलविदा जुमे की नमाज़ भी आप घर पर ही अदा करें, सड़कों पर किसी भी प्रकार कि भीड़ लगाने से बचें.
> इस रमजान किसी भी तरह के सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रम की इजाजत संभव नहीं दिखती है.
> इस रमजान पर गलियों या सड़कों पर कोई अस्थायी स्टॉल नहीं लगेगा. इसके साथ ही स्थानीय प्रशासन की जिम्मेदारी है कि सहरी और इफ्तारी के वक्त कहीं भी भीड़ जमा न होने दें.
> इसके साथ ही अब धर्म गुरुओं से अपील की जाती है कि वो लोगों में कोरोना वायरस की गाइडलाइंस को लेकर जन जागरूकता फैलाएं, ताकि हम इस संक्रमण की चेन को भी तोड़ सके.