जांबाज ‘जुली’ ने अपनी जान देकर बचाया बच्चों की जान

जानवरों में सबसे ज्यादा वफादार कुत्ते को माना जाता है. मालिक की जान पर अगर आफत आती है तो कुत्ता अपनी जान देकर उसे बचाने का प्रयास करता है.  नाशिक शहर में यह बात बिल्कुल सच साबित हुई है. जहाँ एक (जुली) नामक कुत्ते ने अपने मालिक के बच्चों पर खतरा आते हुए देख उसे अपने सर ले लिया.

अपने मालिक के बच्चों के पास जब जुली को कोबरा दिखाई पड़ा और उसे लगा कि यह कोबरा बच्चों को नुकसान पहुंचा सकता है. तब उसने ने तुरंत अपनी जान की परवाह न करते हुए कोबरा नाग पर हमला बोल दिया.

जुली और नाग की इस लड़ाई में आखिरकार दोनों की मौत हुई हो गई. लेकिन जुली ने अपनी जान देकर अपने मालिक के बच्चों को जीवनदान दे दिया. नासिक के सचिन मोकासरे को यह कुत्ता जख्मी अवस्था में तब मिला था जब यह बच्चा छोटा पिल्ला था. उन्होंने इसका इलाज करवा कर अपने ही घर पर उसका पालन पोषण शुरू किया और उसका नाम जूली रखा.

सोमवार के दिन सचिन के बच्चे घर के बाहर खेल रहे थे और पास में झाड़ियां थी वहीं पर अचानक एक कोबरा नाग निकल आया. जिसके बाद अपनी जान की परवाह न करते हुए जूली ने सांप को काट काट कर मार डाला. इस दौरान सांप ने भी जूली को कई बार काटा. जिसकी वजह से उसके भी शरीर में जहर फैल गया और आधे घंटे बाद जूली की भी मौत हो गई.