वणी से “रॉकेट” आते ही CCTV बंद…

0
782

चंद्रपुर : जिले में शराबबंदी है। प्रतिबंध के बावजूद घुग्घुस के एक दर्जन से अधिक ‘रईस’ समझे जानेवाले कुछ नामी लोग होलसेल में अवैध शराब तस्करी कर रहे है। यहां से चंद्रपुर शहर के विभिन्न स्थानों में शराब सप्लाई की जा रही हैं।

घुग्घुस शहर से 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यवतमाल जिले के वणी तहसील के भालर टाऊनशिप परिसर में दीपक ट्रेडर्स नामक देशी शराब की दुकान में कार्यरत राजू अन्ना पल्ले घुग्घुस निवासी है और शराब तस्करी में कई बार चंद्रपुर पुलिस के हत्तथे चढ चुका है।
चर्चा है कि राजू अन्ना पल्ले घुग्घुस के कई अवैध शराब तस्करों को उनके जरूरत के हिसाब से ऑर्डर लेकर शिरपुर व घुग्घुस पुलिस कुछ पुलिस कर्मचारियों को मैनेज कर शराब को अनके गंतव्य तक पाहुचाता है।
वहीं भालर के दीपक ट्रेडर्स में कार्यरत ‘मामाजी’ को मोबाईल पर सूचना देकर अनेक अवैध शराब तस्करों को अलग अलग समय पर शराब लेने दुकान में शराब पहुंचाने को कहा जाता हैं।
रात भर शराब की दुकान शुरू रखकर ‘रॉकेट’ की (S – I) एस आई व (A – I) ए आई दर्जे की शराब की पेटियां देर रात में दी जाती हैं।
यह शराब दुकान शिरपुर पुलिस थाने के अंतर्गत आती है।

 

कहा जाता है कि घुग्घुस क्षेत्र के होलसेल अवैध शराब तस्करी में लड्डम, दादू , पाईकराव, अमित, पाटिल, अजगर नाले के रवी, सोनू भेलके, अहमद, कुरैशी, नागराज, कटकुरी, वर्मा रोजाना शाम से लेकर सुबह तक लाखों रुपयों का ‘रॉकेट’ शराब Scooty Acces 125, Honda City, XUV 500, Duster, Swifit, Indigo, Hyundai Creta,  जैसे अनेक वाहनों में भरकर भालर से निकलते हैं तो उन तस्करों के अलग अलग खबरी घुग्घुस बेलोरा पुलिया के Sst पॉइंट पर पहले से ही मौजूद रहकर चेक पोस्ट पर तैनात पुलिस कर्मियों को प्रत्येक Scooty के हजार तो Car के दो हज़ार रुपये देकर गाडीयां निकाल लेते हैं।

खास बात यह है कि यवतमाल जिले से सटे हुए घुग्घुस के वर्धा नदी के पुलिया पर चंद्रपुर जिले की मुख्य चेकप्वाइंट होने के कारण  यहां CCTV कैमेरे लगाए गए हैं, इन का नियंत्रण चंद्रपुर पुलिस मुख्यलय से होने के बावजूद भी खुलेआम शराब तस्करों के वाहन शराब लेकर  चेकपाइंट से गुजरऩे के पहले ही वहा तैनात पुलिस सुरक्षा कर्मियों द्वारा चेकप्वाइंट की बाहरी लाइट व कैमेरा बंद कर तस्करों को प्रवेश दिये जाने की जानकारी सूत्रों मिली है।

इसके अलावा घुग्घुस में अवैध सट्टा बाजार खुलेआम शुरू है।

ज्ञात हो घुग्घुस पुलिस थाने के हद पार कर अनेक बार शराब तस्कर पडोली व चंद्रपुर पुलिस के हत्थे चढ़ जाते हैं लेकिन उसके बाद तस्कर व पुलिस में मधुरमिलन हो जाता है और कभी दुबारा पकड़े नहीं जाते!