बाघ के हमले में दोनों मित्र मंगेश और राजेंद्र बालबाल बचे

0
456

वरोरा (चंद्रपुर) : मंगेश नानवारे और राजेंद्र नन्नवारे दोनों मित्र बोरगांव के पास रामपुर बीट के एक खेत में काम कर रहे थे जब अचानक उनपर एक बाघ ने हमला किया। सौभाग्य से वे दोनों बाघ के हमले में बच गए। अपनी जान बचाकर खेत में से भागते समय उन्हें मामूली चोटें आई।

जैसे ही वन रेंज अधिकारी राठौर को इस बारे में सूचित किया गया, वह तुरंत मौके पर पहुंचे। खेत में पटाखे बंद वाहन से बाघ का पीछा कर बाघ को बगाया। पिछले कुछ दिनों से इस इलाके में हर दिन बाघों को देखा गया हैं। बोरगांव, शिवानी में किसानों ने मांग की है कि किसी भी तरह के जानमाल का नुकसान से पहले वन विभाग को इन बाघों का बंदोबस्त करनी चाहिए। इस समय वन प्रबंधन समिति के विजेंद्र नन्नवारे के साथ किसानों ने वन विभाग के अधिकारियों के समक्ष अपनी समस्याएं सुनाई।