चंद्रपुर में स्कूल शुरू होते ही बंद की घोषणा

0
314

चतुर्थश्रेणी कर्मचारियों की आक्रमक भूमिका

चंद्रपुर : स्कूलों के चतुर्थश्रेणी कर्मचारियों के पद रद्द करते हुए माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शालाओ में मानधन पर कर्मचारी नियुक्त करने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है. इस निर्णय के विरोध में चंद्रपुर जिला शिक्षण संस्था, संचालक संघ ने आक्रमक भूमिका ली है. शुक्रवार (दि. 18 ) राज्यभर में एक दिन के लिए स्कूलों को बंद रखा जायेगा. सरकार ने इसके बाद भी अगर अपना फैसला वापस नहीं लिया तो 4 जनवरी से बेमियादी हड़ताल करने की चेतावनी दी गई है.

महाराष्ट्र राज्य निजी स्कूल नियमावली 1981 शाला संहिता ये कनून या किमान वेतन कानून में विधिमंडल ने कोई बदलाव नहीं किया है. ऐसी स्थिति में माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शालाओ के कर्मचारी मानधन पर नियुक्त करने का ये फैसला गैरकानूनी है, ऐसा संगठन का कहना है.

उल्लेखनीय है कि आज अनेक स्कूलों में चतुर्थश्रेणी कर्मचारियो के पद बेहद जरुरी हो गए है. लेकिन सरकार ने इन्ही पदों को रद्द कर दिया है. सरकार के इसी निर्णय का निषेध करने के लिए एक दिन का बंद आंदोलन किया जा रहा है. सरकारने निर्णय वापस नहीं लिया तो ४ जनवरी से बेमियादी हड़ताल की जाएगी ऐसी जानकारी चंद्रपुर जिला शिक्षण संस्था संचालक संघ के अध्यक्ष प्रा. अनिल शिंदे, सचिव प्रा. सूर्यकांत खनके ने दी है.