सांस रुकने से हुई थीं डॉ. शीतल आमटे की मौत

0
468

एक महिना पूरा होने पर पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में हुआ उजागर

महारोगी सेवा समिति वरोरा की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. शीतल आमटे करजगी ने 30 नवंबर को आत्महत्या की थी. उनकी आत्महत्या की गुत्थी सुलझने का नाम नहीं ले रही है. पुलिस इस हाई प्रोफाइल मामले में बात कहने से डर रही है. एक माह के बाद अब पोस्ट मार्टम रिपोर्ट उजागर हुई है.

वरोरा (चंद्रपुर) : डॉ. शीतल आमटे की पोस्ट मार्टम रिपोर्ट सामने आई है. इसके अनुसार डॉ. शीतल की मौत सांस रुकने से हुई है. आज उनकी मौत को एक माह पूरा हो गया है.

महारोगी सेवा समिति की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. शीतल आमटे करजगी ने पिछले माह में आत्महत्या की थी. उनके रूम में जहरीली दवा और इंजेक्शन मिला था. चंदपुर के जिला अस्पताल में चार मेडिकल ऑफिसर की उपस्थिती में पोस्ट मार्टम किया गया. नागपुर की लैब में भेजे गए नमूने की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है.

रिपोर्ट का इंतजार
अभी इस मामले में कुछ रिपोर्ट आनी बाकी है. इसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा.
नीलेश पांडे, उपविभागीय पुलिस अधिकारी, वरोरा.