दो नाबालिग लडकीयां मिसिंग

0
227

दो दिनों के बीतर कार्रवाई न होने पर सडकों पर उतरेगा आदिवासी समाज

चंद्रपुर : भद्रावती शहर से दो नाबालिक आदिवासी लडकीयां 2 जनवरी से लापता है किंतु उनकी तलाश करने में भद्रावती के थानेदार लापरवाही बरत रहे है. इस संदर्भ में थानेदार पर कार्रवाई करने की मांग आदिवासी नेता रमेश मेश्राम ने की है. मांग पूर्ण नही होने पर आदिवासी समाज सडकों पर उतरने का इशारा दिया है.

इस संदर्भ में रमेश मेश्राम ने बताया कि भद्रावती शहर के शिवाजी नगर की 16 वर्षीय व मोहबाला की 17 वर्षीय लडकीयां शालेय शिक्षा लेनेवाली लडकीया 2 जनवरी से लापता हुई है. उनके लापता होने की शिकायत भद्रावती पुलिस स्टेशन में लडकीयों के पालकों को दर्ज की. लडकीयां नाबालिक होने से पालकों की चिंता बढ गयी ई. पुलिस ने मामले की गंभीरता से ना लेते हुए लडकीयों की तलाश हेतु अबतक पथक तैयार नही किया. 2 दिन में थानेदार ने कार्रवाई शुरू नही करने पर आदिवासी समाज सडकों पर उतरने का इशारा रमेश मेश्राम ने पत्रपरिषद में दिया.

अवैध शराब पकडने के लिए पीएसआय पद के अधिकारीयो को भेजे जाते है. परंतु आदिवासीयों के नाबालिक लडकीयां लापता होने पर किसी भी प्रकार के कदम नही उठाए जाते ऐसा सवाल मेश्राम ने किया है. इस संदर्भ में 4 जनवरी को एक ज्ञापन गृहमंत्री अनिल देशमुख, पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार, पुलिस अधीक्षक को दिए जाने की जानकारी दी.

पत्रपरिषद में लापता लडकीयों के माता_पिता, सुनील कुलमेथे, जयेंद्र शेडमाके, सविता कुलमेथे, छबु शेडमाके, प्रगती गेडाम, साधना गेडाम, गंगाधर गेडाम, सिद्धार्थ पेटकर, श्रावण वांढरे, विनोद शेडमाके, गोलू गेडाम, भास्कर वरखेडे, शालिक कोटनाके व अन्य आदिवासी बांधव उपस्थित थे.