चंद्रपुर – गढ़चिरोली | शराब पर प्रतिबंध हटाने की घोषणा से ‘रईसों’ में हड़कंप

0
1555

चंद्रपूर : चंद्रपुर – गढ़चिरोली इन दो जिलों की शराब बंदी हर हालत में हटाने की बात सोमवार ७ सितम्बर को जिले के पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने की इस मानसून सत्र में इसी सप्ताह में चंद्रपुर व गढ़चिरोली जिलों की शराब पर प्रतिबंध हटाने पर जल्दी ही निर्णय होगा ऐसा ऐलान करते ही चंद्रपुर और गडचिरोली जिलों के अवैध शराब आपूर्ति करनेवाले ‘रईसों’ में हड़कप मची हुई है।

गडचिरोली जिले में पहले से ही शराब बंदी हैं, वर्ष २०१५ में चंद्रपुर जिले में शराब बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया था, लेकिन कभी भी ऐसा नहीं लगा की जिले में शराब बंदी हैं…

प्रतिबंध के इन पांच वर्षो में जिले में असामाजिक तत्वों से जुड़े अनेक गुन्हेगारी प्रवृत्ति के लोग इस अवैध व्यवसाय में कुद पड़े हैं, इस के अलावा विभिन्न राजनितीक दलों के नेताओं के शरण में रहकर आज भी शराब तस्करी को अंजाम दे ही रहे हैं साथ ही जिले के बड़े नेताओं के सामाजिक संघटनाओं के पदाधिकारियों के साथ साथ पुलीसकर्मी व पत्रकार भी इस व्यवसाय में लिप्त होकर शराब तस्करी के दौरान पुलिस के हत्थे चढ़े हैं।

ज्ञात हो कि, जिले में वैध तौर पर जब शराब की बिक्री होती थी आज उससे चार गुणा अधिक रूप से अवैध शराब बेचीं  जाती हैं।

जैसे की आप सब जानते हैं की साल २०१० में एक फ़िल्म आयी थी मशूहर अभिनेता अजय देवगन की “Once Upon a time in Mumbai” का, वो फ़ेमस डायलॉग “सारे शहर को पुलिस चौकी के हिसाब से बाटे हों सुल्तान”

इसी तर्ज़ पर कुछ रसूखदार नेताओं ने जिले में शराब बंदी हुई तब से अपने दबंग सहयोगियों को शहर में अवैध शराब व रेती और कोयला के तस्करी में किस्मत आजमाने उतारे हैं आज वो शहर में सफ़ेद पोष सुल्तान बन बैठे…!

लेकीन पालकमंत्री के घोषणा से इन अवैध व्यवसाय के बेताज बादशाहो में हडकंप मची हुई है।
इन दो जिलों की जनता का ध्यान इसी ओर लगा है की वक्त का ऊँट किस करवट बैठता है ये तो आनेवाले वक्त ही बतायेगा।