यवतमाल ‘रॉकेट’ के लिए टाइट, चंद्रपुर में अब भी सब ऑल राइट…!

जमकर चांदी काट रहे है अवैध शराब तस्कर और व्यापारी

चंद्रपुर : पड़ोसी जिला यवतमाल के एसपी डॉ. दिलीप भुजबल पाटील ने पदभार संभालते ही सख्त कदम उठाते हुए वहां के थानेदारों को कड़ी हिदायत दी कि, अब उनके क्षेत्र से अवैध शराब तस्करी होने पर और स्थानीय अथवा चंद्रपुर जिले की पुलिस द्वारा अवैध शराब पकड़ने पर संबंधित थानेदार पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस चेतावनी से यवतमाल जिले के सीमावर्ती थानेदार सिर्फ़ नाम मात्र के लिए हरकत में आए और थोड़ा अवैध शराब की सप्लाई को टाइट किया. लेकिन वणी, मारेगॉव,भालर टाऊनशिप से ‘रॉकेट’ व विदेशी शराब यवतमाल के एसपी के निर्देश को ताक पर ऱखकर वणी -सिरपुर पुलिस ने अन्ना, वतन, अमित, कालू, इरफान को घुग्घुस, चंद्रपुर व भद्रावती में सप्लाई का विशेष अवसर प्रदान कर दिया है.

ज्ञात हो कि, चंद्रपुर जिले में जब से शराब बंद हुई है तब से यवतमाल जिले के विविध स्थानों से बड़े पैमाने पर ‘रॉकेट’ व विदेशी शराब की तस्करी जारी हैं. घुग्घुस से सटे यवतमाल जिले के अनेक वाईन शॉप, बियर बार, देशी शराब के दुकानों से देर रात से लेकर तड़के 5 बजे तक जिले के ‘रईस’ वर्धा नदी पुलिया पर स्थित चंद्रपुर पुलिस की सरहद के मुख्य चेक पॉइंट पर सुरक्षा जांच में तैनात पुलिस कर्मियों से मधुर संबंध रख कर खुलेआम मोटरसाइकिल, स्कार्पियों, होण्डासिटी, इण्डिगो, डस्टर के अलावा अनेक वाहनों से रोजाना लाखों रुपयों की शराब घुग्घुस शहर के साथ साथ चंद्रपुर शहर में सप्लाई की जाती हैं.

विशेषः बात यह है कि वर्धा नदी के पुलिया पर चंद्रपुर सरहद पर के सीसीटीवी कैमरों की नियंत्रण चंद्रपुर पुलिस मुख्यालय से होने के बावजूद उन सीसीटीवी कैमरों में अवैध शराब की तस्करी करने वाले ‘रईस’ अब तक कैद क्यों नहीं हो रहे हैं ये समझ से परे हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वणी के ‘रईस’ सोनू जैस्वाल और घुग्घुस के लद्दाम, दगड़ी को घुग्घुस शहर के मार्ग से चंद्रपुर क्षेत्र में ‘नो एंट्री’ लेकिन अन्ना, वतन, गुप्ता, अमित, वर्मा, दादू , वनकर, नागराज, राजेश, तेजराज, विक्की, मूलचंद को ‘एंट्री’ यह सब भालर टाऊनशिप के देशी शराब दुकान से रोजाना हज़ार पेटियों से अधिक ‘रॉकेट’ को सुरक्षित तरीके से जिले में पहुचाते हैं, इसके एवज़ में पुलिस को लाखों रुपयों का चढ़ावा प्रति माह चढ़ाया जाता हैं.

चंद्रपुर जिले में शराब बंदी के पूर्व आज के ‘रईसों’ के पास मोटरसाइकिले तक नहीं थी आज आलीशान वाहनों में घूमते हैं. बताया जाता हैं कि, चंद्रपुर जिले में शराब बंदी से वैध शराब दुकानदारो की हालात ख़स्ता हो गई हैं. वहीं आज जिले में अवैध शराब तस्करी करनेवाले ‘रईस’ की विगत 6 वर्षों में उनकी चाँदी हो गई हैं. जिले के ‘रईसों’ द्वारा नाबालिग छात्रा व युवकों को पैसों की लालच देकर उनसे शराब की तस्करी करवाया जा रहा है.

चर्चा यह भी है कि जो शराब तस्कर पुलिस को चढ़ावा नहीं चढ़ाते वहीं अक्सर पुलिस के हत्थे चढ़ते हैं फ़िर पुलिस से जब उनके संबंध मधुर हो जाते है तो इसके बाद उन पर दुबारा कभी कार्रवाई नहीं होती. बता दे कि, एसपी श्री. साल्वे ने चंद्रपुर जिले का पदभार संभालने के बाद अवैध शराब तस्करी पर अंकुश लगाने पुलिस की टीम बनाई थी, लेकिन उनकी ये टीमें जिले के ‘रईसों’ पर कार्रवाई करने में असमर्थ दिखाई दे रही है तब तो जिले में सब ऑल राइट हैं.