PUBG – GAME | के कारण युवक ने लगायी फांसी

0
2959

मौत से पहले दोस्त को फोन कर कहा अब मैं जा रहा हूँ

माजरी (चंद्रपूर) : थाना क्षेत्र के अन्तर्गत वार्ड क्रमांक 6 माजरी बस्ती में एक 19 वर्षीय युवा ने ऑनलाइन पब्जी गेम खेलते हुए आधी रात को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान गौरव शामराव पाटेकर (19) के रूप में हुई है। जो कि नागपुर के रायसोनी कॉलेज में बी.कॉम (प्रथम वर्ष)का छात्र था. लॉकडाउन के दौरान नागपुर से अपने घर में वापस आकर माँ-पिता जी के साथ पाँच महीने रहता था। पब्जी गेम के लत के कारण पिछले कुछ दिनों से वह अपने मोबाइल पर दिन रात दिए टास्क के अनुसार ऑनलाइन टॉस्क को पूरा करने में लगा रहता था. गौरव पाटेकर ने भी गेम में दिए गए टास्क को पूरा करने के चक्कर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया.जिसके कारण पूरा परिजन सदमे में है. आत्महत्या से पहले गौरव ने माथनकर नाम के एक मित्र को रात एक बजे फोन कर बताया कि अब मैं जा रहा हूँ जिसके बाद माथनकर ने मृतक के बड़े भाई को फोन लगाकर सूचना दिया, फिर जब मृतक के बड़े भाई ने गौरव को उसके कमरे में जाकर देखा तो वह रस्सी के फन्दे से झूलता मिला. जवान लड़के के मौत का दृश्य देखकर घर में कोहराम मच गया.
पब्जी ऑनलाइन गेम ने मृतक का मानसिक संतुलन को बिगाड़ दिया था जिसके कारण माँ-बाप के बार-बार समझाने के बावजूद भी गौरव ऑनलाइन गेम को चोरी छुपे एकांत में खेलते रहता था।जिसका स्वयं के मौत के रूप में दुःखद अन्त हुआ। चचेरे भाई नागाजी पाटेकर ने पुलिस को बताया कि गौरव इस गेम के कारण हर समय अकेले रहना ही पसंद करता था.और गुरुवार रात को भी वह अकेले ही अपने कमरे में जाकर सो गया था। युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए वरोरा के उप-जिला अस्पताल भेजा दिया गया। ऑनलाइन गेमिंग के कारण युवकों के नुकसान के साथ, यह स्पष्ट हो गया है कि पबजी गेम ग्रामीण क्षेत्रों में भी पहुंच गया है. इस खेल ने एक निश्चित आयु वर्ग के नाबालिगों और युवाओं को अपने चपेट में ले लिया है.जो अत्यंत ही चिंताजनक है.ग्रामीणों ने मांग की है कि सरकार को ऐसे घातक खेलों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए।
माजरी पुलिस ने आत्महत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। थानेदार सदाशिव ढाकने के मार्गदर्शन में आगे की जांच विजय चिकनकर कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here