पिता के एक्सीडेंट के बहाने ले गया था ‘वीर’ को

घुग्घूस (चंद्रपूर) : शहर के पुराने बस स्थानक समीप दुर्गा माता मंदिर परिसर से कल शाम साढ़े 5 बजे के दरम्यान 8 वर्षीय वीर खारकर को एक अज्ञात आरोपी ने अपहरण कर लिया था। अपहरण की जानकारी मिलने पर घुग्घूस पुलिस, चंद्रपुर एलसीबी पुलिस द्वारा खोजबीन शुरू की गई थी। इसी के साथ ही सोशल मीडिया में भी इस घटना की चर्चा जोरों पर थी।

अपहरण किया गया वीर आज सुबह नागपुर के सोनेगांव समीप मिला। जिसके बाद आज उसे घुग्घूस लाया गया।
वीर ने बताया कि एक वयक्ति कल शाम 5 बजे के दौरान पास आया और कहने लगा कि तुम्हारे पिताजी का एक्सीडेंट हुआ। तुम्हे अस्पताल ले जाने मैं आया हु कहकर गाड़ी पर बिठाया और म्हातारदेवी मार्ग से वाहन भगाया। वह व्यक्ति सिर पर हेलमेट पेहनहुआ था।
वीर ने बताया कि इस दौरान उसे बार – बार किसी का कॉल आ रहा था उसके फोन पर। किसका फ़ोन है ऐसा पूछने पर वह कह रहा था कि तुम्हारे चाचा का कॉल है ऐसा कहा औऱ उन्होंने हमें जल्दी बुलाया ऐसा बाता रहा था। वह मुझे किसी कच्ची सड़क से लेकर जा रहा था। उसने कही पर भी वाहन नही रोक। केवल एक होटल में मुझे खाना खिलाया। उसके बाद उसे किसी का फोन आया और उसे बताया गया कि बच्चे के अपहरन कि खबर सभी ओर फैल गई।

इसी के साथ सोशल मीडिया पर भी खबर है। उसके बाद उसने अनजान जगह पर एक रूम में थोड़ी देर आराम किये लेकिन वह वक्ती सिर पर हेलमेट लगाकर ही सोया था। सुबह होने पर उसने सोनेगांव रेलवे पुलिया के पास मुझे उतारकर भाग गया। सुबह एक अनजान महिला मिली उसने मुझे पुलिस थाना लेकर गई। पुलिस ने मेरे घर का मोबाईल नंबर लेकर वीडियो कॉल किया। जिसके बाद घुग्घूस पुलिस और मेरे पिताजी आये और मुझे घर लाया।
लेकिन वीर का अपहरण किसने किया? इसके पीछे कोन हो सकता? क्या पुलिस आरोपी को पकड़ पाएगी? ऐसे कई सवाल उठ रहे है।
मामले से जुड़े सभी पहलूओ की पुलिस जांच कर रही है।

आज बुधवार के शाम चंद्रपुर के उपविभागीय पुलिस अधिकारी शिलवंत नांदेडकर ने घुग्घूस थाने में विज़िट दि और थानेदार राहुल गंगोर्डे नेतृत्व में इस अपहरण कि जांच एपीआई नागलोंन कर रहे हैं।