हाइकोर्ट वकील गट्टु वामन राव और नागमणि दंपति हत्याकांड : रिमांड रिपोर्ट में 6 लोगों के नाम शामिल

0
369

• पुट्टा लिंगम्मा ट्रस्ट के खिलाफ वामन राव ने मामला दर्ज किया

• मंथनी नगरपालिका से उनका कंट्राक्ट ठेका भी हटा दिया

• इसके चलते बिट्टू ने वामन राव के खिलाफ बदला लेने की ठान ली

पेद्दापल्ली : पुलिस ने वकील दंपति हत्या मामले में छह लोगों के नामों को रिमांड रिपोर्ट में शामिल किया है। इनमें तीन आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। सोमवार को चौथे आरोपी बिट्टू श्रीनू को गिरफ्तार किया। इनमें से एक आरोपी लच्चन्ना अब भी फरार है। साथ ही वसंत राव की भूमिका नहीं होने पर भी रिमांड रिपोर्ट में उनका नाम शामिल किया है।

बता दें कि, पुलिस ने वकील दंपति हत्या मामले में मुख्य आरोपी के साथ साजिश में शामिल और कार और दो चाकू उपलब्ध कराने वाले चौथे आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इससे पहले मुख्य आरोपी कुंटा श्रीनिवास, शिवंदुल चिरंजीवी और अक्कपाका कुमार को गिरफ्तार किया है। इनकी ओर से दी गई जानकारी के आधार पर चौथे आरोपी बिट्टू श्रीनू को सोमवार को गिरफ्तार किया है।

आईजी नागी रेड्डी ने मीडिया को बताया कि बिट्टू श्रीनू की ओर संचालित पुट्टा लिंगम्मा ट्रस्ट के खिलाफ वामन राव ने मामला दर्ज किया था। साथ ही मंथनी नगरपालिका से उनका कंट्राक्ट ठेका भी हटा दिया। इसके चलते बिट्टू श्रीनू अपनी आय खो बैठा। इसके चलते बिट्टू ने वामन राव के खिलाफ बदला लेने की ठान ली।

आईजी ने आगे बताया कि एक दिन शराब पीते समय अपने दोस्त कुंटा श्रीनिवास को बताया कि वामन राव के कारण उसके इनकम पर कैसे मार पड़ी है। मगर इससे पहले ही वामन राव के साथ कुंटा श्रीनिवास की दुश्मनी थी। मंदिर के निर्माण में भी कुंटा श्रीनिवास और वामन राव के बीच मतभेद है। इसके अलावा मकान निर्माण मुद्दे पर भी वामन राव ने सोशल मीडिया में एक पोस्ट किया है। कुंटा श्रीनिवास ने इसे अपमानित समझा और वामन राव से बदला लेने की ठान ली। बिट्टू श्रीनू की बात सुनकर कुंटा श्रीनिवास ने यही सही समय समझा। इसी क्रम में वामन राव की हत्या करने में कुंटा श्रीनिवास को सहयोग करने का बिट्टू श्रीनू ने आश्वासन दिया।

नागी रेड्डी ने यह भी बताया कि वामन राव की हत्या के लिए चार महीने पहले ही बिट्टू श्रीनू ने दो हथियार तैयार करवाये। पुलिस की जांच में पाया गया है कि ट्रैक्टर की पट्टी से दो चाकू तैयार करवाये। 10 महीने से वामन राव की हत्या का बिट्टू श्रीनू गैंग इंतजार कर रही थी। पहले मंथनी कोर्ट के पास हत्या करने की योजना बनाई। मगर वहां पर संभव नहीं हुआ। इसके बाद घर के पास हत्या करने की योजना बनाई। दोनों जगहों पर लोग अधिक होने के कारण हत्या करने का प्लान बदल दिया। आखिर में कल्वचर्ला के पास वामन राव की कुंटा श्रीनिवास और चिरंजीवी की मदद से हत्या कर दी गई।

इसके बाद बीट्टू श्रीनू ने आरोपियों को फोन करके महाराष्ट्र चले जाने का सुझाव दिया। तत्पश्चात बिट्टू श्रीनू घर में रह गया, जैसे उसे कुछ भी मालूम नहीं है। आरोपियों के पास से एक मोटरसाइकिल और एक सेलफोन बरामद किया है।

आपको बता दें कि हाईकोर्ट की वकील दंपति गट्टु वामन राव और नागमणि की बुधवार को बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। दंपति हैदराबाद से मंथनी जा रहे थे। इस बीच रामगिरी  के निकट वकील गट्टु वामन राव के वाहन को ओवरटेक कर रोक दिया गया और दंपति पर चाकू और हंसिया से हमला किया। गंभीरू रूप से घायल होने पर दंपति की मौत हुई। संदेह व्यक्त किया गया कि गुंजापडुगु के कुंटा श्रीनिवास ने वकील दंपती पर हमला करवाया है।