बहुचर्चित हिंगनघाट प्राध्यापिका हत्याकांड की सुनवाई शुरू

0
410

हिंगनघाट : बहुचर्चित हिंगनघाट जलीत हत्याकांड प्रकरण में 17 दिसंबर को आरोपी के खिलाफ दोषारोप दायर किया गया था. सोमवार को स्थानीय फास्टट्रैक कोर्ट में गवाह तथा सबूत पेश किये गए. विशेष सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने पीड़ित पक्ष की ओर से पैरवी की. प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह 10.45 को विशेष सरकारी वकील उज्ज्वल निकम न्यायालय में पहुंचे़ इसके बाद आरोपी को भी न्यायालय में लाया गया़ पश्चात न्यायालय का कामकाज आरंभ हुआ.

ज्ञात हो कि आरोपी विकेश नगराले ने प्राध्यापिका पर पेट्रोल छिड़ककर उसे आग के हवाले कर दिया था. विकेश नगराले पर हत्या की साजिश रचने सहित प्राध्यापिका को जिंदा जलाने का आरोप लगाया गया था. उस समय सरकारी पक्ष की ओर से प्रसाद सोईटकर ने काम संभाला था. आरोपी पक्ष से नागपुर के वकील भूपेंद्र सोने ने कामकाज देखा था.

पश्चात प्रकरण में सरकारी पक्ष की ओर से विशेष सरकारी वकील एड. उज्ज्वल निकम को नियुक्त किया गया़ आज सोमवार को सुबह 11 बजे न्यायालय का कामकाज शुरू हुआ. इसके बाद दोपहर डेढ़ बजे भोजन अवकाश के रहते कोर्ट काम रोका गया़ दोपहर 2 बजे से फिर कामकाज शुरू हुआ.

सोमवार को तीन गवाह पेश किए गए़ उनकी पुन: जांच ली गई. 12, 13 जनवरी को फिर कुछ गवाह और सबूत पेश किए जाएंगे. सोमवार का कामकाज खत्म होने के बाद अतिरिक्त जिला सत्र न्यायालय में मंगलवार को सरकारी वकील उज्वल निकम फिर पैरवी करेंगे. आरोपी पक्ष से एड. भूपेंद्र सोने ने पैरवी की.