चंद्रपुर | पुलिस की कमान संभालेंगे अरविंद सालवे, क्या जिले में बढ़ते अपराधों पर रोक लगा पाएंगे नए एसपी?

0
552

चंद्रपुर : महाराष्ट्र सरकार के गृह विभाग ने आईपीएस अधिकारियों के तबादले करते हुए अरविंद सालवे को चंद्रपुर का नया जिला पुलिस अधीक्षक नियुक्त किया है. हालांकि अभी यहां के पुलिस अधीक्षक डॉ. महेश्वर रेड्डी का तबादला कहा किया गया है, ये तय नहीं है. नए पुलिस अधीक्षक जिले में व्याप्त अपराधों पर रोक लगा पाएंगे या नहीं? ये अब देखना होगा. उल्लेखनीय है कि जब पीएसआई छत्रपति चिडे पर हमला हुआ था तब महेश्वर रेड्डी ने ये दावा किया था कि दोषियों पर मकोका के तहत कार्रवाई होगी और अब जिले में एक बूंद भी शराब की नहीं मिल पाऐगा. ये बात और है कि इसके बाद भी उनके कार्यकाल के दौरान शराब की नदियां बहती रही है.

नाकाम ही साबित हुए डॉ. रेड्डी

चंद्रपुर जिले में पहले कोयला तस्करी के माध्यम से बड़े पैमाने पर अपराध होते थे. हालांकि कोयला खदानों की सुरक्षा कड़ी किए जाने के बाद से ही इन अपराधों में कमी आ गई है. लेकिन शराबबंदी किए जाने के बाद से शराब तस्करी जोरों पर होने लगी है. इस अपराध से निपटना नए एसपी के लिए एक चुनौती होगी. शराब माफियाओं की मनमानी का ये उदाहरण कोई नहीं भूलेगा कि पुलिस उपनिरीक्षक छत्रपति चिडे को ड्युटी पर रहते हुए तस्करों के हमले में अपनी जान गंवानी पड़ी थी. घुग्घुस, वरोरा, भद्रावती, राजुरा, कोरपना, गोंडपिपरी, नागभिड, ब्रम्हपुरी इन इलाकों में धड़ल्ले से शराब की तस्करी की जा रही है.

इन अपराधों पर लगाम लगाने में भी फेल हुए

चंद्रपुर जिले के विभिन्न इलाकों में बाल अपराध, यौन शोषण जैसे कई मामले उजागर हुए. इस तरह के अपराधों पर भी रोक लगाने में पुराने पुलिस अधीक्षक महेश्वर रेड्डी पुरी तरह फेल साबित हुए है. नए पुलिस अधीक्षक को इस ओर भी गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है.

‘ऊंची पहुंच’ वाले कर्मियों पर ध्यान देंगे एसपी?

जिले में हाल में हुए पुलिस विभाग के तबादलों के दौरान कुछ थानों के ‘ऊंची पहुंच’ वाले कर्मचारियों के तबादले रद्द कर दिए गए थे. तबादलों में भी बड़े पैमाने पर धांधली होने के आरोप लगते रहे है. ऐसे में नए एसपी ने पदभार संभालने के बाद इन ‘ऊंची पहुंच’ वाले कर्मचारियों पर ध्यान देकर उनसे निपटने की भी जरूरत है.

 

डॉ. महेश्वर रेड्डी के कार्यकाल में चंद्रपुर जिले में शराब तस्करी पर लगाम नहीं कसी जा सकी. शराब तस्करों की आपसी रंजीश में ही बल्लारपुर के सुरज बहुराशी की हत्या हुई थी. तभी से डॉ. रेड्डी के तबादले की चर्चा जिले में जोरों पर थी. लेकिन वह अपवाह साबित हुई. आखिरकार कल आदेश जारी हुए और चंद्रपुर को नए पुलिस अधीक्षक मिल गए. उल्लेखनीय है कि पुराने एसपी डॉक्टर थे और नए एसपी सालवे इंजीनियर है. नए एसपी से वैसे उम्मीदें तो बहुत सारी है, लेकिन देखना होगा कि वे सबसे पहले जिले की शराब तस्करों के आतंक की बड़ी समस्या से निपटने के लिए कौनसी रणनीति बनाते है.