नांदेड़ में ‘होला मोहल्ला’ मनाने से रोकने गई पुलिस पर 300 – 400 सिख युवओं ने हमला कर दिया ; 4 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल

0
500

नांदेंड़ : होली का जुलूस यानी सिख समुदाय का होला मोहल्ला निकालने से रोकने पर गुरुद्वारे में इकट्ठी हुई भीड़ ने पुलिस की टीम पर हमला कर दिया. इस दौरान 4 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए. मामले की प्राथमिक जांच में पता चला है इस हिंसा के पीछे की वजह पुलिस द्वारा भीड़ को जुलूस निकालने से रोकना था. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते केस की वजह से धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक लगी हुई है. बावजूद सोमवार को होला मोहल्ला का आयोजन करने के लिए भीड़ जुटी थी. जब पुलिस इन्हीं रोकने पहुंची तो भीड़ भड़क गई और गुस्साई भीड़ ने पुलिस को दौड़ा कर पीटा.

सोशल मीडिया पर इस घटना से जुड़े वीडियो भी वायरल हो रहे हैं. वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि किसी तरह से गुरुद्वारे के गेट पर लगी बैरिकेडिंग को भीड़ तोड़ देती है. सड़कों पर खड़े वाहनों में तोड़फोड़ की जाती है. भीड़ में ज्यादातर लोगों के हाथों में नंगी तलवारें नजर आ रही हैं.

नांदेड़ के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कोरोना के मद्देनजर लगाई गई पाबंदियों की वजह से होला मोहल्ला की अनुमति नहीं दी गई थी. इस पर गुरुद्वारा कमेटी ने भरोसा दिया था कि परिसर के अंदर ही कार्यक्रम करेंगे. शाम 4 बजे जब निशान साहिब को गेट पर लाया गया, तो लोग जुलूस निकालने के लिए बहस करने लगे. पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो 300-400 लोगों ने गेट तोड़ दिया और पुलिस पर हमला कर दिया। इसमें 4 पुलिस वाले घायल हो गए. हिंसक भीड़ ने वाहनों में भी तोड़फोड़ की. इस मामले में FIR दर्ज कर जांच की जा रही है.